12वीं के रिजल्‍ट से असंतुष्ट व निराश विद्यार्थियों की उम्मीदें बरकरार, परिणाम सुधार परीक्षा का मिलेगा मौका

0

HPBOSE 12th Result 2021, बारहवीं के निराश व असंतुष्ट परीक्षार्थियों की उम्मीदें बरकरार हैं। असंतुष्ट व अनुत्तीर्ण परीक्षार्थियों को प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड परीक्षा का मौका देगा। इसके लिए अगस्त व सितंबर में परीक्षा ली जाएगी व इसके लिए अलग से तिथि घोषित की जाएगी। कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण दस जमा दो कक्षा के परीक्षार्थी महज एक ही विषय अंग्रेजी की परीक्षा दे सके थे, जबकि अन्य परीक्षाओं को कोविड-19 महामारी के कारण रद करना पड़ा था। ऐसे में दसवीं कक्षा की भी परीक्षा व दस जमा दो की परीक्षा भी रद कर दी थी।

दसवीं कक्षा के लिए सरकार ने कहा था कि सभी विद्यार्थियों को प्रमोट किया जाएगा, जबकि दस जमा दो के लिए नीति निर्धारित करने के लिए कहा गया था। प्रदेश सरकार के निर्देश पर स्कूल शिक्षा बोर्ड ने दस जमा दो के विद्यार्थियों के लिए नीति तय की और इस नीति के तहत आठ बिंदुओं को शामिल किया गया और उसी के लिहाज से परीक्षा परिणाम भी घोषित किया गया। लेकिन इस परीक्षा परिणाम से पहले सरकार की और से दसवीं के विद्यार्थियों को प्रमोट करने के सरकार के निर्णय के बाद दस जमा दो के विद्यार्थी भी काफी उत्साहित थे।

दस जमा दो की परीक्षा के लिए 100799 परीक्षार्थी पंजीकरण थे, इनमें से 93438 परीक्षार्थी तो पास हो गए पर 702 परीक्षार्थियों को कंपार्टमेंट आई है। और 5220 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण हुए हैं। राज्य सरकार ने पहले विद्यार्थियों को प्रमोट करने का फैसला लिया था। लेकिन बाद में इसके लिए बोर्ड को नीति बनाने के लिए कहा था। ऐसे में अब अनुत्तीर्ण व परिणाम से असंतुष्ट विद्यार्थियों के लिए परीक्षा देने का अवसर है। इसकी तैयारी शिक्षा बोर्ड आने वाले समय में करने जा रहा है, ताकि ऐसे विद्यार्थियों को राहत दी जा सके।

पास होने के इंतजार में बैठे परीक्षार्थियों में से 5220 को लगा झटका

दसवीं के प्रमोट विद्यार्थियों को देखकर कर दस जमा दो के परीक्षार्थी भी खुद को प्रमोट मान कर चल रहे थे, लेकिन बोर्ड की परीक्षा परिणाम नीति से 5220 विद्यार्थियों को झटका लगा है।

यह बोले शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष

शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डा. सुरेश कुमार सोनी ने कहा कि दस जमा दो के परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम के लिए लिए सरकार ने नीति तय करने के लिए कहा था उसी नीति के हत आठ बिंदुओं को शामिल किया गया है। कुछ परीक्षार्थी फेल हुए हैं कुछ को कांपार्टमेंट भी आई है। लेकिन परीक्षा परिणाम से संबंधित सभी परीक्षार्थी परीक्षा दे सकेंगे। आठ बिंदुओं के तहत ही परिणाम घोषित किया गया है। शिक्षा नीति के तहत अब विद्यार्थियों को सत्र शुरू होने के साथ ही अध्यापक छात्रों की असेस्मेंट करनी शुरू कर देंगे। जिससे परीक्षा के अंतिम वक्त में विद्यार्थियों पर कोई दबाव नहीं पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *