कम हुआ कोरोना, 1022 व्यक्तियों की जांच में दो मिले संक्रमित

0

पछवादून और जौनसार-बावर में कोरोना संक्रमण कम हो गया है। स्वास्थ्य की जांच को बुधवार को कुल 1022 व्यक्तियों की सैंपलिंग हुई। इसमें दो लोग कोरोना संक्रमित मिले। सीएचसी चकराता के प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डा. नरेंद्र चौहान व चीफ फार्मेसिस्ट संजय धस्माना ने कहा ब्लॉक क्षेत्र में कुल 231 नागरिकों की कोरोना जांच होने से सिर्फ एक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

पीएचसी कालसी की प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. गरिमा भट्ट ने कहा प्रखंड में कुल 220 व्यक्तितों की कोरोना जांच होने से सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। एसडीएच विकासनगर के प्रभारी सीएमएस डा. विजय सिंह ने कहा विकासनगर क्षेत्र में कुल 275 नागरिकों की कोरोना जांच होने से सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। सीएचसी सहसपुर की प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. विनीता सयाना ने कहा ब्लाक क्षेत्र में कुल 301 व्यक्तियों की सैंपलिंग की गई। इसमें एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया गया। इस तरह जौनसार में कुल 451 और पछवादून में 576 व्यक्तियों की कोरोना जांच होने से सिर्फ दो लोग संक्रमित मिले। जिन्हें स्वास्थ्य विभाग टीम की निगरानी में होम आइसोलेट किया गया है।

29 दिन में को-वैक्सीन और 84 दिन में कोविशील्ड की दूसरी डोज लेना अनिवार्य

चकराता: राजकीय अस्पताल कालसी की प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. गरिमा भट्ट ने कहा क्षेत्र में जिन व्यक्तियों को पूर्व में को-वैक्सीन और कोविशील्ड की पहली डोज मिली है उन्हें दूसरी डोज निर्धारित समयावाधि में अनिवार्य रुप से लेनी होगी। प्रभारी चिकित्साधिकारी ने कहा सामान्यत देखने में आया है कि कई लोग कोरोना की एक डोज लेने के बाद दूसरी डोज लेने में लापरवाही बरत रहे हैं।

जिन व्यक्तियों को को-वैक्सीन का की पहली डोज 28 दिन पहले और कोविशील्ड की डोज 84 दिन पहले लग चुकी है वह इसकी दूसरी डोज आठ से दस के अंतराल में अनिवार्य रुप से लगवाएं। निर्धारित समयावधि में कोरोना की दोनों डोज लेने वाले व्यक्तियों को संक्रमण फैलने का खतरा नहीं रहेगा। प्रभारी चिकित्साधिकारी ने पूर्व में कोरोनारोधी टीका लगा चुके सभी नागरिकों से इसकी दूसरी डोज अनिवार्य रुप से लेने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *