खुशखबरी! भारत को जल्द मिल सकती है तीसरी कोरोना वैक्सीन, रूसी टीके को लेकर SEC की बैठक आज

0

कोरोना संक्रमण के खिलाफ भारत की लड़ाई और मजबूत होने वाली है। देश को जल्द ही तीसरी वैक्सीन मिल सकती है। रूसी वैक्सीन Sputnik V को आपात इस्तेमाल की सिफारिश को लेकर सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) की बैठक होने वाली है। अगर एसईसी आपात इस्तेमाल की सिफारिश कर देती है, तो अंतिम मंजूरी के लिए इसे देश के दवा महानियंत्रक (डीसीजीआइ) वीजी सोमानी के पास भेजा जाएगा। वह इसके इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत देंगे। भारत में इस वैक्सीन का निर्माण डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज कर रही है। उसने थर्ड फेज के ट्रायल के डेटा पहले ही जमा कर दिए हैं। रूसी वैक्सीन स्पुतनिक वी तीसरे चरण के ट्रायल में 91.6 फीसद असरदार साबित हुई।

बता दें कि देश में कोरोना टीकाकरण जारी है। अब तक कोरोना टीके की 6.30 करोड़ डोज दी जा चुकी है। टीकाकरण के लिए दो टीकों इस्तेमाल हो रहा है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित वैक्सीन को भारत में पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कोविशील्ड के नाम से तैयार किया है। वहीं दूसरा टीका पूरी तरह से स्वदेशी भारत बायोटेक की कोवैक्सीन है। देश में 16 जनवरी को टीकाकरण का शुरू हुआ था। पहले स्वास्थ्यकर्मियोंं और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया गया। इसके बाद 60 साल से ऊपर और गंभीर बीमारी वाले 45 साल से ऊपर के लोगों का टीकाकरण शुरू हुआ। अब एक अप्रैल से 45 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीका लगने लगेगा।

देश में सात और कोरोना वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल जारी-  हर्षवर्धन 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मंगलवार को जानकारी दी कि देश में सात और कोरोना वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है। स्वास्थ्य मंत्री ने दिल्ली हर्ट एवं लंग इंस्टीट्यूट में कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज ली। इसके बाद ही उन्होंने यह बता कही। उन्होंने आगे बता या कि सात में से कुछ टीके ट्रायल एडवांस स्टेज में हैं और दो दर्जन से अधिक वैक्सीन अभी प्री-क्लीनिकल ट्रायल स्टेज में हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *