पति तलाशता रहा महिला और नौकर को, घर के पीछे पालीथिन में दबे हुए थे शव; ऐसे चला Double Murder का पता

0

इंग्लैंड से 15 साल पूर्व पति के साथ देहरादून आकर बसी महिला और उनके नौकर की सिर और गले पर धारदार हथियार से प्रहार कर हत्या कर दी गई। दोनों के शव लहूलुहान हालात में विला के पिछले परिसर में पत्तों व पालीथिन से ढके हुए मिले। शवों की स्थिति की जांच के बाद पुलिस मान रही कि हत्या मंगलवार देर रात हुई, लेकिन मृतक महिला के पति ने बताया कि बुधवार सुबह तक पत्नी घर पर ही थी। घटना के समय पति की घर पर मौजूदगी और उसके लगातार विरोधाभासी बयान देखकर पति पर पुलिस का शक गहरा गया है। हत्या के कारणों को लेकर पुलिस फिलहाल किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंची है। पुलिस महिला और नौकर के बीच संबंध भी टटोल रही है। संपत्ति विवाद, व्यावसायिक रंजिश और अन्य कारणों पर भी जांच की जा रही। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खंडूरी के मुताबिक, पति को पुलिस ने अपनी निगरानी में रखा है और उससे पूछताछ चल रही।

प्रेमनगर थाना क्षेत्र के धौलास में 65 वर्षीय सुभाष शर्मा व उनकी पत्नी 55 वर्षीय उन्नति शर्मा आलीशान विला में नौकर राजकुमार थापा (50 साल) के संग वर्ष 2011 से रह रहे थे। दंपती मूल रूप से राजस्थान, जबकि नौकर नेपाल का निवासी बताया जा रहा है। दंपती का इंग्लैंड में फैशन डिजाइनिंग का व्यवसाय है, जिसे अब वहां रह रहे बेटा-बेटी संभालते हैं। उन्नति शर्मा वर्ष 2006 में इंग्लैंड से दून पहुंचीं, जबकि सुभाष एक साल बाद आए। उन्नति ने दून के वसंत विहार एन्क्लेव में कोठी खरीदी व नौकर राजकुमार तभी से साथ रह रहा था। इस बीच दंपती ने उत्तराखंड की पूर्व पुलिस महानिदेशक कंचन चौधरी से धौलास क्षेत्र में जमीन खरीदी। जब 2011 में जब विला तैयार हो गया तो वह वहां शिफ्ट हो गए।

बुधवार सुबह लगभग 10 बजे सुभाष शर्मा ने पुलिस को फोन कर पत्नी व नौकर के लापता होने की सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची व ग्रामीणों समेत विला में तलाश की तो उन्नति और राजकुमार के लहूलुहान शव रसोई के पीछे बने बगीचे में पत्तों और पालीथिन में छुपे मिले। दोहरे हत्याकांड से पुलिस में हड़कंप मच गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खंडूरी फोर्स समेत मौके पर पहुंचे। जांच में दोनों के सिर व गले पर धारदार हथियार से प्रहार के निशान पाए गए। फोरेंसिक टीम ने मौके पर साक्ष्य जुटाकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए।

पति के बयानों में विरोधाभास

पति सुभाष शर्मा ने पुलिस को बताया कि रोज सुबह सात बजे नौकर राजकुमार चाय बनाकर पिलाता है, मगर बुधवार सुबह वह घर पर नहीं दिखा। इस पर पत्नी उन्नति उसे देखने की बात कहकर निकलीं, लेकिन वह भी नहीं लौटीं। सुभाष ने रोजाना घर पर दूध देने आने वाली स्थानीय महिला सविता को फोन कर पत्नी व नौकर के लापता होने की जानकारी दी। सविता व आसपास के लोग पहुंचे व दोनों की तलाश की और न मिलने पर पुलिस को सूचना दी। चूंकि, शव रसोई से महज दस फीट की दूरी पर पड़े थे, मगर सुभाष ने बताया कि उन्हें कोई आवाज नहीं सुनाई दी। पुलिस के अनुसार पोस्टमार्टम के बाद हत्या के वक्त की सही जानकारी मिल सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *