ऋषिकेश चिकित्सालय को जल्द मिलेगा स्थायी सीएमएस

0

स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने कहा कि ऋषिकेश का राजकीय चिकित्सालय हर दृष्टि से महत्वपूर्ण है। सरकार इस चिकित्सालय को बेहतर बनाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि जल्द ही राजकीय चिकित्सालय को स्थायी सीएमएस मिल जाएगा। साथ ही उन्होंने ऋषिकेश अस्पताल में आक्सीजन यूनिट स्थापित करने की भी स्वीकृति दी है।

शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत में एसपीएस राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने चिकित्सालय के विभिन्न वार्डों में जाकर मरीजों से मुलाकात की। मरीजों तथा उनके तीमारदारों से अस्पताल में मिल रही सुविधाओं तथा अन्य समस्याओं की जानकारी ली। निरीक्षण के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए रावत ने कहा कि राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश में आक्सीजन प्लांट लगाने के लिए स्वीकृति दे दी गई है। इसके लिए चिकित्सालय प्रशासन को शीघ्र भूमि का चयन कर प्रस्ताव भेजने के लिए निर्देशित किया गया है। जल्द ही चिकित्सालय में अपना आक्सीजन प्लांट स्थापित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ऋषिकेश चिकित्सालय में 18 वार्ड का आइसीयू बनकर तैयार हो चुका है। आगामी सप्ताह में इस आइसीयू वार्ड का लोकार्पण किया जाएगा। आइसीयू वार्ड के संचालन के लिए चिकित्सकों, नर्सों तथा मेडिकल स्टाफ की जितनी भी आवश्यकता होगी प्राथमिकता के साथ पूरी की जाएगी। उन्होंने कहा कि चिकित्सालय में शीघ्र ही स्थायी सीएमएस की नियुक्ति भी की जा रही है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पदभार ग्रहण करते ही उन्होंने प्रदेश के 100 चिकित्सालयों का दौरा करने का निर्णय लिया था। अब तक वह नौ चिकित्सालयों का दौरा कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश के सभी चिकित्सालयों में डाक्टर, नर्स, चिकित्सा कर्मियों, दवाइयों तथा सफाई संपूर्ण व्यवस्था के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। इस अवसर पर प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डा. विजयेश भारद्वाज भी मौजूद रहे।

———

कोविड-19 की लहर के लिए की जा रही पूरी तैयारी

स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए सरकार समय रहते पूरी तैयारी कर रही है। इसके लिए सभी अस्पतालों में आक्सीजन की पुख्ता व्यवस्था के अलावा बेड तथा दवाइयों की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। एक माह के भीतर सभी चिकित्सालयों में आमूलचूल परिवर्तन नजर आएंगे। इसके लिए वह प्रत्येक दो दिन में विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर में बच्चों पर होने वाले संभावित खतरे को देखते हुए सभी व्यापक तैयारियां की जा रही है।

———

दिसंबर तक शत प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार ने प्रदेश में दिसंबर तक शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन करने का लक्ष्य तय किया है। इसके लिए केंद्र सरकार ने भी पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश को प्रतिमाह वैक्सीन की सात लाख डोज मिल रही है। हाल में ही उन्होंने केंद्रीय नेतृत्व से मुलाकात कर उत्तराखंड को प्रतिमाह 20 लाख वैक्सीन देने का आग्रह किया है, जिस पर केंद्रीय नेतृत्व ने सकारात्मक आश्वासन दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *