कोरोना की तीसरी लहर से निबटने के उपायों में जुटी सरकार

0

कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए प्रदेश सरकार इससे निबटने की तैयारियों में जुट गई है। इस कड़ी में शुक्रवार को सचिवालय में हुई समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सभी जिलों से कोरोना महामारी के नियंत्रण और टीकाकरण की जानकारी लेने के साथ ही तीसरी लहर के दृष्टिगत सभी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तीसरी लहर से पहले तैयारी को जो समय मिला है, उसका सदुपयोग किया जाना चाहिए। उन्होंने जिलों के अस्पतालों में पर्याप्त आक्सीजन बेड, आईसीयू की व्यवस्था पर जोर दिया। साथ ही कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर भी कोविड केयर सेंटर बनाए जाएं। उन्होंने हल्द्वानी व देहरादून में आक्सीजन बेड, आईसीयू व वेंटिलेटर की सुविधा बढ़ाने की जरूरत बताई और कहा कि कोविड के चरम पर होने पर उपचार के लिए इन दोनों शहरों पर अधिक जोर रहता है। उन्होंने वर्षाकाल को देखते हुए आपदा की दृष्टि से संवेदनशील स्थलों के आसपास एंबुलेंस की व्यवस्था करने को भी कहा।

मुख्यमंत्री ने बच्चों के अनुरूप दवा, मास्क व उपकरणों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आशा कार्यकर्त्‍ताओं के माध्यम से सप्लीमेंट न्यूट्रीशन आदि का वितरण शीघ्र सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी टेस्टिंग की व्यवस्था करने, माइक्रो कंटनेमेंट जोन बनाने और कांट्रेक्ट ट्रेसिंग को लगातार जारी रखने, वैक्सीनेशन को अधिक गति देने के लिए जनसामान्य को प्रेरित करने के निर्देश भी दिए।

दिव्यांगों व बुजुर्गों के लिए लगेंगे कैंप

प्रदेश में जिन दिव्यांगजनों और बुजुर्गों का अभी पूर्ण टीकाकरण नहीं हुआ है, उन्हें चिहिनत कर जिलाधिकारी उनके टीकाकरण के लिए कैंप लगवाएंगे। मुख्यमंत्री ने बैठक में इस संबंध में निर्देश दिए। उन्होंने जिलाधिकारियों को कोविड पर नियंत्रण को निरंतर जनजागरण अभियान चलाने और स्थानीय सेलिबे्रटी और जनप्रतिनिधियों का इसमें सहयोग लेने को कहा।

सीमाओं पर टेस्टिंग हो पुख्ता

बैठक में मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने आने वाले दिनों में कोविड कफ्र्यू हटने पर भीड़ बढऩे की संभावना को देखते हुए सीमाओं पर टेस्टिंग की पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने बाजारों में सुरक्षित शारीरिक दूरी समेत कोविड की गाइडलाइन का अनुपालन कराने, आइवरमैक्टिन दवा का वितरण 30 जून तक पूर्ण करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। बैठक में मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार शत्रुघ्न सिंह, डीजीपी अशोक कुमार, सचिव अमित नेगी, मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी जे सुंद्रियाल, स्वास्थ्य महानिदेशक डा तृप्ति बहुगुणा मौजूद थे, जबकि दोनों मंडलों के मंडलायुक्त, सभी डीएम, एसएसपी व सीएमओ वर्चुअली जुड़े।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *