मोहब्बत की सजा मौत: भाइयों ने पकड़े हाथ-पैर, मां ने दबाया बेटियों का गला, फंसने के डर से ऐसे ठिकाने लगाए शव

0

फोन पर प्रेमी से बात करते पकड़े जाने के बाद मां और दोनों भाइयों ने ही दोनों युवतियों की हत्या की थी। कई बार पूछने के बाद भी प्रेमी के बारे में जब दोनों ने जानकारी नहीं दी तो भाइयों ने हाथ-पैर पकड़े और फिर मां ने बड़ी बेटी और फिर छोटी बेटी का गला दबाया था। फंसने के डर से बड़ी बेटी के शव को पेड़ से लटका दिया और दूसरी का शव सड़क किनारे फेंक आए थे।

इसमें कुछ रिश्तेदार और भट्ठा मालिक ने भी मदद की थी। पीलीभीत के बहुचर्चित हत्याकांड का खुलासा कर पुलिस ने मां, बड़ा भाई और भट्ठा मालिक को जेल भेज दिया है। बीसलपुर के एक भट्ठे पर परिवार समेत ईंट पाथने का काम करने वाली बिलसंडा क्षेत्र की निवासी दो सगी बहनों (17 वर्ष और 20 वर्ष) की सोमवार रात को हत्या कर दी गई थी। एक का शव भट्ठे से सौ मीटर सड़क पर पड़ा मिला था, जबकि दूसरी का दो सौ मीटर दूर यूकेलिप्टिस के पेड़ पर रस्सी से बने फंदे से लटका था।

दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगा रहा था परिवार
परिवार दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगा रहा था, जबकि पुलिस को ऑनर किलिंग का शक था। बृहस्पातिवार दोपहर एसपी जयप्रकाश ने सगी बहनों के हत्या का खुलासा किया। एसपी ने बताया कि सोमवार शाम करीब पांच बजे बड़ी बेटी को फोन पर प्रेमी से बात करते हुए परिवार वालों ने देख लिया था। छोटी बेटी भी बहन के साथ थी। मां और दोनों भाइयों ने उनसे इसे लेकर सवाल जवाब किए। मगर दोनों बहनें कुछ नहीं बता रही थी। बड़ी बेटी की शादी तय हो चुकी थी। ऐसे में बदनामी की बात कहते हुए परिजन उग्र हो गए और दोनों की पिटाई करने लगे।

पहले बड़ी बेटी का दबाया गला फिर छोटी बेटी का
पहले बड़ी बेटी का मां ने गला दबाया, दोनों भाई हाथ-पैर पकड़े रहे। वह बेहोश हो गई, इस पर परिजन उसे मरा समझ बैठे। फिर छोटी बेटी का भी गला दबाकर इसी तरह से हत्या कर दी गई। इसके बाद परिवार को फंसने का डर लगा। बड़ी बेटी के शव को रात में ही ले जाकर फंदे पर लटका आए। फंदे पर लटकने से उसकी मौत हो गई। फिर छोटी बेटी के शव को सड़क पर फेंका।

मां समेत तीन को भेजा जेल
मोबाइल भी पास में रख आए थे। बड़े भाई से जानकारी मिलने पर पहुंचे ठेकेदार ने भट्ठा मालिक को पूरी बात बताई। वह पुलिस से शिकायत करने की बात भी कहता रहा। मगर भट्ठा मालिक ने परिवार के गुनाह में साथ देकर शांत रहने को कह दिया था। मंगलवार सुबह जब हल्ला बढ़ने लगा तो बचाव में पुलिस को फोन कर सूचना दी थी। मगर उस वक्त भी यह नहीं बताया कि रात से उसे घटना की जानकारी है। पुलिस ने मां, बड़े भाई, भट्ठा मालिक बीसलपुर के मोहल्ला ग्यासपुर निवासी अली हसन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। छोटा भाई, बहनोई अभी हत्थे नहीं चढ़ सके हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *